आरएसएस और भाजपा इसके लिए जिम्मेदार

0

पश्चिम बंगाल में आज भाजपा ने 12 घंटे के बंद का ऐलान किया है। इस दौरान सड़कों पर सुरक्षा व्यवस्था बिल्कुल चुस्त-दुरुस्त है। चार हजार से ज्यादा पुलिसकर्मियों को सड़कों पर तैनात किया गया है। साथ ही सैकड़ों कंट्रोल रूम भी बनाए गए हैं। बता दें कि इस्लामपुर के उत्तरी दिनाजपुर में हुई हिंसा के दौरान दो छात्रों की मौत के बाद भाजपा ने ये बंद बुलाया है। मिदनापुर में प्रदर्शनकारियों ने सरकारी बसों में तोड़फोड़ की है और सड़कों पर टायर जला दिए हैं। कूचबिहार में भी कुछ ऐसा ही हाल है। यहां भी प्रदर्शनकारियों ने राज्य सरकार की बसों में तोड़फोड़ की है। हालांकि बसों के ड्राइवरों ने पहले से ही सतर्कता बरती हुई है और हेलमेट पहनकर गाड़ी चला रहे हैं।

इसके अलावा प्रदर्शनकारियों ने हावड़ा-बर्धमान मेन लाइन सहित कई रूटों पर ट्रेनों को भी रोक दिया है और प्रदर्शन कर रहे हैं। वहीं, सुरक्षा के लिहाज से हावड़ा में पुलिस की तैनाती बढ़ा दी गई है। बता दें कि पिछले हफ्ते उत्तरी दिनाजपुर जिले में पुलिस और स्थानीय लोगों के बीच हुई झड़प में दो छात्रों की मौत हो गई थी और 14 लोग घायल हो गए थे। दरअसल, छात्र और स्थानीय लोग एक स्कूल में सिर्फ ऊर्दू शिक्षकों की नियुक्ति का विरोध कर रहे थे और नवनियुक्त शिक्षकों को स्कूल में घुसने से रोक रहे थे। भाजपा ने इसी के विरोध में आज बंद का ऐलान किया है। हालांकि प्रदेश की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आरएसएस और भाजपा को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया है और उन पर सांप्रदायिक तनाव पैदा करने की कोशिश का आरोप लगाया है। उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में कहा था ‘भाजपा और आरएसएस गिद्ध की तरह हैं जो मौत का इंतजार करते हैं और फिर उस पर राजनीति करना शुरू कर देते हैं। यहां तक कि वे छात्रों की मौत के साथ राजनीति करते हैं। पहले वे हत्या करते हैं और फिर मृत व्यक्ति के खून से होली खेलते हैं।’

Leave A Reply