मजनुओं का जुलूस निकाला

0
मजनुओं का जुलूस निकाला कुण्डीपुरा, कोतवाली और देहात थाने की पुलिस ने और किया जिला न्यायालय में पेश
 छिन्दवाड़ा जिला मुख्यालय सहित जिले के अनेक थानों एवं प्रदेश के अनेक जिलो में जहां लगातार लूट, राहजनी, छेडख़ानी, बलात्कार, अन्याय, अत्याचार, महिलाओं एवं युवतियों की नृशस हत्या हो रही है तो वहीं प्रदेश सरकार के दावे खोखलें हो रहे है। ऐसी स्थिति में पुलिस महानिदेशक के द्वारा निर्देशित किया गया है कि मुख्यमंत्री की मंशा के अनुरूप ऐसे कृत्यों में लिप्त मजनुओं को पकड़कर उनका जुलूस संयुक्त रूप से निकाला जावे ताकि समाज के लोग भी ऐसे दरिंदो की चेहरो को पहचान सके और चिड़ीमार बेनकाब हो सके। इसी को ध्यान में रखते हुए जिला मुख्यालय में पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर की गई मजनुओं की धरपकड़ की कार्यवाही के बाद कुण्डीपुरा टी.आई. रत्नेश मिश्रा, कोतवाली टी.आई. श्री जागते, और देहात थाना क ी टी.आई. अर्चना जाट ने संयुक्त रूप से अपने पुलिस बल के साथ चिड़ीमारो की धरपकड़ करने के बाद जुलूस निकाला और न्यायालय में पेश किया। यहां पर मजे की बात यह रही कि एक आरोपी स्वयं नारा लगा रहा था पुलिस हमारी बाप है छेडख़ानी करना पाप है, जिसे सुनकर लोग मजा भी ले रहे थे। पुलिस के द्वारा निकाले गए मजनुओं के जुलूस के बाद तिराहो, चौराहों में खड़े होकर सिगरेट फूकने वाले तथा काला चश्मा पहनकर खड़े होने वाले लोगों के मन में दहशत व्याप्त हो गया है। अब देखना यह है कि पूरे जिले में इस तरह के मजनुओं पर पुलिस लगातार कार्यवाही करती रहेगी या फिर जैसा होता आया है घटना हुई, अभियान चला और समाप्त हो गया। हालाकि पुलिस अधीक्षक छिन्दवाड़ा गौरव तिवारी के प्रति लोगों का असीम विश्वास है कि छेडख़ानी करने वाले असामाजिक और गुण्डा तत्व न पहले बख्शे जाते रहे है और न ही भविष्य में भी बख्शे जायेंगे। हालाकि इसमें भुक्तभोगी परिवार को भी तथा आम जनता को भी पुलिस का सहयोग करना होगा तभी ऐसे असामाजिक तत्व गिरफ्त में आयेंगे जैसा कि 20 मार्च को निकाले गए जुलूस में दिखाई दे रहे है।

Leave A Reply