जात की जनगनना हो !…..

0

अब सवाल केवल ओबीसी जनगणना का रहा ही नही है…. बात बहोत आगे बढ रही है. SC and ST, Muslim, Hindu जैसी कॅटिगिरी की जनगणना हो रही है, कास्ट की नही. आज कौनसी जाती की संख्या कितनी है किसीको मालूम नही. मगर फिरभी हर जात अपनी संख्या बढाचढाकर कहती है…. बस्स! अब इसी का फायदा उठाकर मनुवादी केंद्र सरकार SC+ST+OBC के अंतर्गत दो जातीयोंमे झगडा लगवाना चाहती है…. Quota within Quota तत्व की अमलबजावणी जल्दही सुरू हो रही है…. अब SC और OBC के तिन और चार तुकडे हो रहे है…. अगर किसी को पता नही है की, किस जाती की संख्या कितनी है तो एसेमे हर जात अपनी संख्या बढा कर कहेंगी और दुसरी जातसे लढेगी…. अब वो दिन दुर नही जब बौद्ध बस्तीपर मातंग हमला करेंगे, माली-सैनी बस्ती पर कुणबी-मराठा और जाट पटेल, वालमिकी के खिलाफ चर्मकार और तेली के विरूद्ध मे धोबी…! मनुवादी सरकार तो ऐसे झगडों को सपोर्ट करेंगी और अस्त्र- शस्त्र भी देगी…
—- लेकीन अभी भी समय है.. .. ब्राह्मण से लेकर हर जाती और जमात की जात-गणना (Caste-wise Census) अगर होगी तो आकडों के आधारपर Quota within Quota का बटवारा शांतीसे हो सकता है… लेकीन यह आंदोलन के सिवाय नही होगा.. इसलिए 2018 सालमे सभी महापुरूषोंके जयंती-मृत्यु के प्रोग्राम पर ज्यादा ध्यान ना देते हुए हर जिले मे Caste-wise Census जागृती प्रोग्राम लेना जरूरी है… 2018 मे यही एक जनआंदोलन देशभरमे होगा तो SC+ST+OBC इस कॉमन प्रोग्राम की वजहसे एकजुट होगा और इसका असर 2019 की इलेक्शनपर होगा…

Leave A Reply